Astrology related to human body

यदि आपके शरीर को एक देश माना जाए। तो उस देश का प्रधानमंत्री होगा आपका लग्नेश। मंत्रालयों में द्वितीयेश  वित्त मंत्री। तृतीयेश कौशल  एवं संचार मंत्री, चथुर्तेश गृह मंत्री  ,पंचमेश क्रीड़ा मनोरंजन स्वस्थ्य मंत्री (चुकी रोग मुक्ति का भाव )। षष्टेश रक्षा मंत्री ,सप्तमेश जनसम्पर्क मंत्री। अष्टमेश आपदा प्रबंधन मंत्री ,नवमेश सामाजिक कल्याण मंत्री। दशमेश वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री। लाभेश मानव संसाधन अथवा इच्छापूर्ति मंत्रालय (इच्छापूर्ति मंत्रालय लाभेश के गुण अनुसार नाम रखा है ) ,द्वारदशेश विदेश मंत्रालय। ( आप भाव अनुसार जो भी उसका कार्य उसके अनुसार मंत्रालय के नाम रख सकते है यदि मुझसे को त्रुटि हो तो भी आप स्वयं भाव गुण अनुसार मंत्रालय जोड़ सकते है ) .कई बार लोग पूछते रहते है लग्नेश द्वित्य में होगा तो क्या होगा तृत्य में होगा तो क्या होगा। पंचमेश द्वारदश में होगा तो क्या होगा आदि आदि। ये मंत्रालय अनुसार जिस मंत्री की स्थिति देखनी हो उसको स्थिति किस मंत्रालय में और किस मंत्री से उसकी युति देख कर फल बताये जा सकते है। जैसे लग्नेश द्वित्य में तो देश का नेता वित्त भवन में स्वाभविक है कैसे भी स्थिति में प्रधान मंत्री उस मंत्रालय को सम्भल लेगा अर्थात जातक की धन सम्भान्धि स्थिति उत्तम होगी। अब यदि यही प्रधान मंत्री ( लग्नेश ) की युति आपदा प्रबंधन मंत्री ( अष्टमेश से ) तो स्वाभाविक है वित्त मंत्रालय पर अधिक भार पड़ेगा और प्रधानमंत्री भी ज्यादातर समय आपदा प्रबंधन के कार्यो में व्यस्त। प्रधान मंत्री संचार मंत्रालय में तो स्वाभविक देश की संचार वयवस्था कौशल में वृद्धि। प्रधान मंत्री यदि गृह मंत्रालय में तो स्वाभविक रूप से देश ( घर ) सुखशांति रहेगी। इसी तरह से आप हर भाव भावेश एवं युति के फल सही मंत्रालय का निर्धारण करके निकाल सकते है। यहाँ स्व विवेक से लेख के भाव को समझना आवश्यक है। तत्पश्चात ही इसका उपयोग संभव।Dinesh Yadav

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *